संकाय/प्रशासन

नाम : डॉ. ओ.पी. वल्‍ली

कार्य : प्रोफेसर/अध्‍यक्ष, प्रौद्योगिकी में अंतरराष्‍ट्रीय व्‍यापार केन्‍द्र (सीआईटीटी)

ई-मेल : opwali@iift.edu

अर्हताएं

  • 1988-90 : ग्रामीण प्रबंधन संस्‍थान आनन्‍द, गुजरात, भारत से मास्‍टर्स इन रूरल मेनेजमेंट ।
  • 2005-2008 : "मार्केट पोटेन्शियल ऑफ ई-लर्निंग फॉर कॉरपोरेट ट्रेनिंग इन इण्डिया", जेएमआई सेन्‍ट्रल यूनिवर्सिटी, दिल्‍ली, भारत ।
  • 2007 : मेजेजिंग ग्‍लोबल गवर्नेंस (एमजीजी), जर्मन डवलपमेंट इन्स्टिट्यूट, बोन (डीआईई) ओर इनवेन्‍ट, जर्मनी, आर्थिक सहयोग और विकास मंत्रालय, जर्मनी ।

विशेषज्ञता क्षेत्र

उद्यमशीलता, ई-कार्मस, इन्‍टरनेट मार्केटिंग, डिसिजन सपोर्ट सिस्‍टम, डिसिजन माउलिंग, अनुसंधान पद्धतियां, अध्‍ययन में आईसीटी, सामाजिक जिम्‍मेदारी और प्रोसेस सुधार में डवलपमेंट निहितार्थ ।

कार्य अनुभव

कुल अनुभव : 20 वर्ष

वर्ष 2001 से भारतीय विदेश व्‍यापार संस्‍थान, दिल्‍ली । उन्‍हें कॉरपोरेट और शिक्षण संस्‍थाओं में लगभग 20 वर्ष का अनुभव है, उन्‍होंने ग्रामीण उत्‍पाद और टर्मिनल बाजारों में प्रसंस्‍करित उत्‍पादों के विपणन में और मदर डेयरी एफ एंड वी प्रोजेक्‍ट, दिल्‍ली के उत्‍पादकता संवर्धन कार्यक्रम में राष्‍ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड, भारत, (एनडीडीबी) की एक इकाई में एक प्रमुख भूमिका निभाई । इन्दिरा गांधी राष्‍ट्रीय मुक्‍त विश्‍वविद्यालय भारत (इग्‍नू) की प्रथम ऑनलाइन प्रबंधन डिग्री कार्यक्रम की पहल की और देश भर में आईआईएफटी कार्यक्रमों के लिए ऑनलाइन अध्‍ययन विस्‍तार कार्यक्रम शुरू किया । वे, समकालीन मुद्दों पर प्रबंधन मामलों के लेखन के जरिए मीडिया के लिए एक नियमित योगदानकर्ता हैं । प्राकृतिक रेशे, हस्‍ताशिल्‍पों और अंतरराष्‍ट्रीय व्‍यापार सुविधा प्रक्रियाओं के क्षेत्र में नियमित नीति इनपुट उपलब्‍ध कराते हैं । विकासशील देशों में शिक्षा क्षेत्र से संबंधित आईसीटी नीतिगत मुद्दों पर एक विजिटर विद्वान के रूप में 2007 में यूनेस्‍को, पेरिस में कार्य किया ।


प्रकाशन

पेपर, लेख और कार्यवाहियां

·       "ई-लर्निंग इन इण्डिया : एक्‍सपीरिएन्सिज, इश्‍यूज एंड चेलेन्जिज", इलेक्‍ट्रानिक्‍स व्‍यवसाय के संबंध में तीसरा अंतरराष्‍ट्रीय सम्‍मेलन कार्यवाही, जिसका आयोजन नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर ने किया (9-13 दिसम्‍बर 2003) ।

·       "आईटी इनीशिएटिब्‍ज एंड ई-लर्निंग फॉर एसएमई इन इण्डिया", भारत, यू.के. और चीन में एसएमई की ई-तत्‍परता के संबंध में अंतरराष्‍ट्रीय सम्‍मेलन, भारतीय विदेश व्‍यापार संस्‍थान, नई दिल्‍ली, 8-16 अक्‍टूबर 2003  

 

·       "आनलाइन लर्निंग इन लोकल कनटेक्‍स्‍ट-ई-लर्निंग एंड स्‍टाफ डवलपमेंट", "इग्‍नू" – ब्रिटिश काउन्सिल राउण्‍डटेबल, 22 अक्‍टूबर 2003 ।

·       "स्‍ट्रेटेजिक आई टी ट्रेनिंग फ्रेमवर्क फॉर मिड-साइज मेन्‍युफेक्‍चरिंग एनटरप्राइजिज", "भारतीय मध्‍यम आकार के विनिर्माण उद्यमों" पर अंतरराष्‍ट्रीय सम्‍मेलन : एक विश्‍व अर्थव्‍यवस्‍था में अवसर तथा चुनौतियां", प्रबंधन विकास संस्‍थान, गुड़गांव, भारत द्वारा आयोजित (19-20 फरवरी 2004) ।

·       "यूनिवर्सिटी ऑफ फोइनिक्‍स आनलाइन" का मामला विश्‍लेषण, "कासेफोलिओ" में प्रकाशित आईसीएफएआई प्रैस, आईसीएफएआई विश्‍वविद्यालय, हैदराबाद, भारत, जनवरी 2005 ।

·       मामला विश्‍लेषण "मेकिंग दि यू.के. प्रिजन सिस्‍टम मीट डिमान्‍ड ऑफ ईजी फ्लो ऑफ इन्‍फोर्मेशन", "दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस" दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 18 फरवरी 2006 ।

·       मामला "आउट ऑफ बाक्‍स सोल्‍युशन सेव्‍ज दि डे फॉर दि टेलीकाम वेन्‍डर", "दि फाइनेन्सियल एक्‍सप्रैस", दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 18 मार्च 2006 ।

·       मामला विश्‍लेषण, "ए फ्लेक्सिबिल कास्‍ट इफेक्टिव सोल्‍युशन इज एन एडवान्‍टेज", फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 8 अप्रैल 2006 ।

·       मामल, "यूजिंग आई टी टू गारन्‍टी स्‍मूथ फंक्‍शनिंग ऑफ रीटेल सप्‍लाई चेन", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 15 अप्रैल 2006 ।

·       मामला, "आर्गनाइज अनसेल्‍फ टू केपिटलाइज ऑन क्रिएटिव आउटसोर्सिंग अपोरच्‍युनिटीज", दि फाइनेंशियल एक्‍सप्रैस में दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 6 मई 2006 ।

·       मामला "क्‍युइक, रिफ्लक्सिज इन ए वायर्ड एयरपोर्ट हेल्‍पस रीट्रीव लॉस्‍ट बेगेज", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित 3 जून 2006 ।

·       मामला, "ई-लनिंग इज ए गुड एम्‍प्‍लाई ट्रेनिंग माडल", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली भारत में प्रकाशित, 24 जून 2006 ।

·       मामला, "यूजिंग आई टी टू मेक्सिमाइज प्राडक्टिविटी", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली भारत में प्रकाशित, 22 जुलाई 2006 ।

·       मामला, "एन आउटस्‍टेन्डिंग आउटसोर्सिंग माडल", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित होगा, 12 अगस्‍त 2006

·       मामला, "ए स्‍टेप इन राइट डिरेक्‍शन", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 9 सितम्‍बर, 2006

·       मामला, "इन सर्च ऑफ आर्गनाइजेशनल एक्‍सीलेंस", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 23 सितम्‍बर 2006

·       "पोटेन्शियल ऑफ ई-कामर्स इन सप्‍लाई चेन मूवमेंट एंड प्रोसेस एनलिसिस इश्‍यूज इन‍ इण्डिया", सप्‍लाई चेन मेनेजमेंट ग्रुप, यू.एन/इसफेक्‍ट, 2-6 अक्‍टूबर 2006 ।

·       मामला, "अकोमोडेटिंग ट्रांजेक्‍शन", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 21 अक्‍टूबर 2006 ।

·       मामला, "परफोर्मिंग बैटर विद बिजनेस एनेलिटिक्‍स", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 11 नवम्‍बर 2006

·       मामला, "बैटिंग इट राइट", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 16 दिसम्‍बर 2006 ।

·       मामला अध्‍ययन, "मोर चेक पाइन्‍ट्स फॉर ड्रग डिस्‍कवरी", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 13 जनवरी 2007 ।

·       मामला अध्‍ययन, "अण्‍डरकटिंग प्राइसिज अनहेल्‍दी फॉर रीटेल", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 27 जनवरी 2007 ।

·       मामला अध्‍ययन, "राइजिंग अबाव दि टर्फ वार्स", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 13 मार्च 2007 ।

·       मामला विश्‍लेषण, "डवलपिंग एनेलिटिकल केपेबिलिटीज ए मस्‍ट", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 14 अप्रैल 2007 ।

·       मामला विश्‍लेषण, "इम्‍प्‍लीमेंट आई टी सर्विसिज मेनेजमेंट", दि फाइनेन्शियल एक्‍सप्रैस, दिल्‍ली, भारत में प्रकाशित, 28 अप्रैल 2007 ।

·       "एज्‍युकेशन एंड आईसीटी पॉलिसी मेकिंग इश्‍यूज एंड रेस्‍पोन्सिज", इन्‍फोर्मेशन सोसायटी डिविजन, यूनेस्‍को, पैरिस, नवम्‍बर 2007 ।

·       "स्‍टडी ऑफ कॉपर प्राडक्‍ट्स मार्केट पोटेन्शियल इन यूरोपियाई कन्‍ट्रीज", एक अनुसंधान परियोजना, कॉपर बोर्ड भारत द्वारा प्रोयोजित, 2010

·       एस.के. पाण्‍डेय और ओ.पी. वल्‍ली, "मेनेजमेंट लेसन्‍स फ्राम इण्डियन एपिक्‍स इन कन्‍टेक्‍स्‍ट टू थ्‍योरी जैड", जरनल ऑफ ह्युमन वैल्‍यूज, 16:1 (2010):57:70, सेज प्रकाशन ।

·       एस.के. पाण्‍डेय और ओ.पी. वल्‍ली, "रीटेलर्स बिहेवियर टूवर्ड्स साइलेंस ऑफ मैच्‍यूर प्राडक्‍ट ब्राण्‍ड्स-ए एम्‍पीरीकल स्‍टडी ऑन ए मेजर कोला ब्राण्‍ड इन ए डवलपिंग इकॉनोमी", आईआईएमएस जरनल ऑफ मेनेजमेंट साइंस, वा.2, जुलाई-दिसम्‍बर 2010 ।

·       एस.वहल, ओ.पी. वल्‍ली और कुमारंगुरू पी., "इन्‍फोर्मेशन सिक्‍युरिटी प्रेक्टिसिज फोलोड इन दि इण्डियन साफ्टवेयर सर्विसिज इन्‍डस्‍ट्री एन एक्‍सप्‍लोरिटी स्‍टडी", ईडब्‍ल्‍युआई-आईईईई सेकेण्‍ड वर्ल्‍डवाइड साइबर सिक्‍युरिटी समिट, 1-2 जून 2011, लन्‍दन (आईईईई एक्‍सप्‍लोर इश्‍यू में प्रकाशित, दिनांक: 8-8-2011) ।

अध्‍याय

·       "यूनिट्स ऑफ कोर्स ऑन इन्‍टरनेशनल बिजनेस फॉर मेनेजमेंट डिस्‍सीप्‍लीन, "इग्‍नू", दिल्‍ली"

·       "यूनिट-18-ई बिजनेस एप्‍लीकेशन इन इन्‍टरनेशनल बिजनेस-अपोरच्‍युनिटीज एंड चेलेन्जिज"

·       "यूनिट-19-आपरेटिंग इन ए बोर्डरलैस वर्ल्‍ड-इवोल्विंग इश्‍यूज"

·       (डब्‍ल टेक्‍सेसन, ट्रांसफर प्राइसिंग, आईपीआर, टेक्‍नोलाजी ट्रांसफर, नोलिज मनेजमेंट)।

 

पुस्‍तक समीक्षा

·       "मार्केटिंग मेनेजमेंट", रजंन सक्‍सेना द्वारा, 1999, इण्डियन जरनल ऑफ कामर्स, इण्डियन कामर्स एसोसिएशन ।

·       "ई-कामर्स-दि एशियन मेनेजर्स हेण्‍डबुक", डा. राजेश चक्रवर्ती और डा. विकास कार्डिले द्वारा, 2002, ग्‍लोबल बिजनेस रीव्‍यू, आईएमआई, वा.3, अंक 3, जुलाई-दिसम्‍बर 2002 ।

 


व्‍यावसायिक/शैक्षणिक संबंधित

·       सदस्‍य, प्रोजेक्‍ट मेनेजमेंट इन्स्टिट्यूट, यू.एस.ए.

·       सदस्‍य, इण्डियन जरनल ऑफ कामर्स

·       विजिटिंग संकाय, आईआईटी, रूड़की, दिल्‍ली अर्थशास्‍त्र स्‍कूल