अंतरराष्‍ट्रीय बिजनेस कॉनक्‍लेव

  • होम
  • /
  • छात्र
  • /
  • छात्र निकाय
  • /
  • अंतरराष्‍ट्रीय बिजनेस कॉनक्‍लेव

अंतरराष्‍ट्रीय बिजनेस कॉनक्‍लेव

छठे वार्षिक अंतरराष्‍ट्रीय व्‍यवसाय कानक्‍लेव के बारे में (आईबीसी 2018)


भारतीय विदेश व्‍यापार संस्‍थान (आईआईएफटी), एक मानित विश्वविद्यालय, भारत में एक प्रमुख अनुसंधान और प्रशिक्षण संस्थान है। भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय के तत्वावधान में सन् 1963 में स्थापित, आईआईएफटी अंतरराष्‍ट्रीय व्यापार के क्षेत्र में क्षमता विकास पर केंद्रित करता है। यह भारत में नई दिल्ली और कोलकाता और तंजानिया में डार-एस-सलाम में अपने-अपने परिसरों से स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम आयोजित करता है।

सिंगापुर व्यापार महासंघ (एसबीएफ) व्यापार, निवेश और औद्योगिक संबंधों के क्षेत्रों में सिंगापुर व्यापार समुदाय के हितों के लिए शीर्ष व्यापार कक्ष है। यह 28,500 कंपनियों के साथ-साथ प्रमुख स्थानीय और विदेशी व्यापार मंडलों का प्रतिनिधित्व करता है।

आईआईएफटी पूर्व छात्र संघ सिंगापुर (आईआईएफटीएएएस) एक सिंगापुर-पंजीकृत सोसाइटी है, जिसके 100 से अधिक सिंगापुर स्थित आईआईएफटी के पूर्व छात्र इसके सदस्य हैं। आईआईएफटीएएएस हर वर्ष ज्ञान-साझाकरण और पेशेवर नेटवर्किंग के लिए प्लेटफॉर्म के रूप में कई औपचारिक और अनौपचारिक कार्यक्रमों का आयोजन करता है। इसके सबसे बड़े आयोजनों में से एक आईआईएफटी इंटरनेशनल बिजनेस कॉन्क्लेव है जो वैश्विक व्यापार से संबंधित उभरते रुझानों और विकास पर चर्चा पर केंद्रित करता है। वर्ष 2013-2016 से सफल अंतरराष्‍ट्रीय सम्मेलनों की श्रृंखला ने व्यापार और निवेश पर कॉर्पोरेट नेताओं के दृष्टिकोण को समझने के लिए भारत और यूएई के बीच व्यापार और निवेश संबंधों की वृद्धि का लाभ उठाया है।

 

स्टीवन कोचरन डॉ. मनोज पंत ऑगस्टीन एंथुवन डेबोरा एल्म्स
 
श्री के.वी. राव वोंग चियान वोएन संजय माथुर  

अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्यापार युद्ध के परिणामस्वरूप कई बाजारों में अनिश्चितता पैदा हो गई है। शुल्क एवं गैर-शुल्क बाधाओं को बढ़ाने सहित पारस्परिक उपायों की गहनता से बढ़ी अस्थिरता से गड़बड़ी और स्थापित एकीकृत आपूर्ति श्रृंखलाओं में वृद्धि तथा व्यापार विश्वास के स्तर को नीचे लाने की संभावना है। दक्षिण पूर्व और दक्षिण एशिया के कई देश जो चीन या अमेरिका या दोनों को कच्चे माल तथा असेंबलियों की आपूर्ति करते हैं, उनके प्रभावित होने की संभावना है। सभी प्रमुख क्षेत्रों - जिंसों, विनिर्माण, सेवाओं और आधारिक संरचना विकास - को बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। सरकारों, व्यवसायों तथा व्यक्तियों को व्यापार की दुनिया के नए प्रतिमानों के अनुकूल होने के लिए तेजी से प्रतिक्रिया करने की आवश्यकता होगी।

अनिश्चितता एवं व्यवधान की ऐसी अवधि दक्षिण पूर्व तथा दक्षिण एशिया में मौजूदा और नए व्यवसायों के लिए आशाजनक अवसरों को आगे लाने के लिए बाध्य है। प्रमुख संरचनात्मक परिवर्तन, नए नियामक ढांचे, तीव्र प्रतिस्पर्धा और तेजी से तकनीकी प्रगति के साथ वैकल्पिक व्यापार मॉडल नई साझेदारियों, सहयोगी उपक्रमों एवं नवीन उद्यमियों को क्षेत्रीय तथा वैश्विक व्यापार के नए युग में स्‍वयं के लिए एक स्थान बनाने में सक्षम बनाएंगे।

कॉन्क्लेव ने गहन यूएस-चाइना व्‍यापार युद्ध द्वारा बनाई गई चुनौतियों पर विभिन्न व्यापारिक क्षेत्रों से विचार-नेताओं, उद्योग कप्तानों, शिक्षाविदों और पेशेवरों के बीच चर्चा की और इसके परिणामस्वरूप नए व्यापार के अवसरों की भारी संभावनाएं पैदा हुईं।

अंतरराष्‍ट्रीय बिजनेस कॉनक्‍लेव 2017

भारतीय विदेश व्‍यापार संस्‍थान का 5वां वार्षिक बिजनेस कॉनक्‍लेव (आईबीसी 2017) आईआईएफटी व आईआईएफटी अल्‍यूमनाई एसोसिएशन, सिंगापुर द्वारा संयुक्‍त रूप से दिनांक 29 सितम्‍बर 2017 को एनटीयूसी सेंटर, वन मेरिना बॉलेवार्ड, सिंगापुर में आयोजित  किया गया। इस कार्यक्रम में उद्योग जगत के पेशेवरों तथा प्रतिष्ठित अंतरराष्‍ट्रीय संस्‍थाओं को प्रचलित विषयों पर उनके परिप्रेक्ष्‍य को रखने के लिए एक मंच उपलब्‍ध कराया गया। इस वर्ष कॉनक्‍लेव की विषय-वस्‍तु ''डिस्‍रपटर्स ऑफ ग्‍लोबल बिजनेस लैंडस्‍केप - पॉलिटिक्‍स, बिजनेस एवं टेक्‍नोलॉजी थी।

वर्ष 2013-16 तक की इस सफल अंतरराष्‍ट्रीय कॉनक्‍लेव श्रृंखला में भारत एवं यूएई के बीच व्‍यापार तथा निवेश के विकास पर कॉरपोरेट अग्रणियों के परिप्रेक्ष्‍य को समझने का लाभ मिला।

आईबीसी-2017 के वक्‍ता

निम्‍न वक्‍ताओं ने अपनी उपस्थिति से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई:

  • के.वी. राव - रेजिडेंट डायरेक्‍टर, टाटा सन्‍स लिमिटेड
  • प्रसेनजीत बासु - संस्‍थापक एवं मुख्‍य अर्थशास्‍त्री, रियेल-इकोनॉमिक्‍स.कॉम
  • सिड हरलालका, एक्‍सेंचर ईडीबी सेंटर
  • मनप्रीत सिंह - सीनियर कंसल्‍टेंट, आईबीएम वाटसन सॉल्‍यूसन




अंतरराष्‍ट्रीय कॉनक्‍लेव 2016

उपर्युक्‍त कॉनक्‍लेव वर्ष 2016 में आईआईएफटी द्वारा 24 सितम्‍बर को दुबई में आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम का उद्घाटन दुबई में भारत के महावाणिज्‍यदूत श्री अनुराग भूषण द्वारा किया गया था। इस अवसर पर ईटीए कॉमोडिटिज के सीईओ एवं आईआईएफटी के दुबई चैप्‍टर के अध्‍यक्ष श्री अजय माथुर मुख्‍य अतिथि थे। पैनल चर्चा के उद्धाटन सत्र में विस्‍तृत क्षेत्रों जैसे व्‍यापार, शिपिंग, बैंकिग तथा कनसल्टिंग से 100 से भी अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।